कर्पूरी ठाकुर के जीवन चरित्र को पाठ्यक्रम में किया जाए शामिल- डॉ मोहनी सविता

कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न दलितों पिछडों का सम्मान-- सुमन लता आर्या

कर्पूरी ठाकुर के जीवन चरित्र को पाठ्यक्रम में किया जाए शामिल- डॉ मोहनी सविता


कर्पूरी ठाकुर की विचार धारा से आमजन को परिचित कराना लक्ष्य-- शिक्षक  लखन लाल आर्य 

श्रीराम सेन सिलवानी


महरौनी(ललितपुर)- जन नायक कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न दिलाने एवं उनके जीवन चरित्र को पाठ्यक्रम में शामिल किए जाने हेतु जनजागरूकता अभियान के अंतर्गत ऑनलाइन वेविनार संयोजक आर्य रत्न लखन लाल आर्य द्वारा पूरे फ़रवरी माह चलने बाले आयोजन के क्रम में   सविता समाज की बहू बेटियों की जुबानी कर्पूरी ठाकुर की कहानी विषय पर ऑनलाइन संगोष्ठी  आयोजित की गई। इसमें समाज की अनेकों बहू बेटियां ने भाग लिया और अपने विचारों को व्यक्त किया।  जिसमें फतेहपुर की प्रवक्ता डॉक्टर मोहिनी ने  कर्पूरी ठाकुर के बारे में बताया उनके समाजवादी विचारों को व्यक्त करते हुए कहा कि  महिलाओं का 3% आरक्षण,  पिछड़े वर्ग का 26 फ़ीसदी आरक्षण की बात, भूमि कर की बात किसानों  के हक के लिए उनके संघर्षसंघर्ष, इन सभी की बातों पर उन्होंने प्रकाश डाला। 

 श्रीमती सुमन लता सेन आर्या शिक्षिका ने कहा कि  कर्पूरी ठाकुर जी का सादा जीवन उच्च विचार से भरा हुआ जीवन था और वो सही मायने में एक जननायक थे  ।

आकृति शर्मा प्रयागराज ने  कपूरी ठाकुर जी की राजनीतिक जीवन पर प्रकाश डाला।  अलंकृता आर्य मुरादाबाद  ने कर्पूरी ठाकुर जी के समाजवादी व्यक्तित्व के बारे में प्रकाश डाला। श्रीमती नीलम श्रीवास्तव जी ने भी कर्पूरी ठाकुर जी के लिए बहुत ही अच्छे विचार प्रकट किए। 

मुकेश चंद्रा   रेलवे अधिकारी दिल्ली ने कहा कि  कर्पूरी ठाकुर के जीवन से  सभी को प्रेरणा लेनी होगी कि उन्होंने अभाव में रहते हुए सता के शीर्ष पर पहुंचकर दलितों पिछड़ों के न्याय के लिए संघर्ष किया। 

संचालन करते हुए आर्य रत्न शिक्षक लखन लाल आर्य ने कहा कि जन नायक को  भारत  रत्न दलितों पिछड़ों का सम्मान होगा एवं उनके जीवन चरित्र को पाठ्यक्रम में लागू करने से अत्यंत पिछड़ी जातियों की राजनैतिक इच्छा शक्ति प्रबल होगी।


शिवप्रियांशी श्रीवास्तव सुपुत्री शिवप्रसाद श्रीवास्तव-शिक्षक हरदोई  ने कहा कि कर्पूरी ठाकुर के जीवन चरित्र को घर घर पहुचाने की आवश्यकता हैं।

डॉ श्रीओम मेरठ, डॉ राजेश ठाकुर इटावा,एल बी शर्मा  आजमगढ़, मिथलेश सविता उप निदेशक  विजली विभाग फतेहपुर ने कहा कि  कर्पूरी ठाकुर एक विचार हैं।



वेविनार में सिविल जज संजना गांधी बिहार,उषा सेन झाँसी,मुन्ना लाल सेन  ठेकेदार झाँसी,,डॉ शिवप्रेम यागिक शिक्षक चित्रकूट, लाल बहादुर शर्मा आजमगढ़,सौरभ सेन शिक्षक कचनौदा कला,वसुंधरा सेन झाँसी सहित अनेकों लोग उवस्थित रहें।

कार्यक्रम का संचालन  संयोजक आर्य रत्न शिक्षक लखनलाल आर्य  एवं  राजेश सविता, प्रवक्ता पॉलिटेक्निक मथुरा ने आभार व्यक्त किया।

Post a Comment

Please do not enter any spam links in the comments box.

Previous Post Next Post